Nar Service is Narayan Service: Sadhvi Ritambhra Didi

By No Comments

True service lies in Vatsalya: Shailji Kant Mishra

Dr. Shyam Agarwal and his team were honored

On the Occasion of Ram Navami, a huge “Eye Camp” was organized in Vatsalya Village in Vrindavan.

श्री ब्रह्मानंद जिंदल चैरिटेबल ट्रस्ट मुंबई द्वारा आयोजित इस शिविर में 285 नेत्र रोगियों का सफल ऑपरेशन किया गया ।

वात्सल्य ग्राम में निशुल्क मोतियाबिंद शिविर के समापन पर मरीजों को दवा तथा चश्मा वितरण किए साध्वी ऋतंभरा दीदी ने …

Samvid Gurukulam celebrated National Mathematics Day.

By No Comments

Samvid Gurukulam Sr Sec School students in Vatsalyagram celebrated National Mathematics Day on December 22 on the birth anniversary of Maths Genius Srinivasa Ramanujan. The former Prime Minister, on February 26, 2012, declared December 22 as the National Mathematics Day to mark the mathematician’s birth anniversary. Daughters of #samvidgurukulam paid their tribute to Srinivasa Ramanujan, who is also known as the ‘man who knew infinity’.


So keeping the spirit of learning active, Samvid Gurukulum organised an Inter-house Mathematics Quiz for classes VI to IX on Wednesday , 22 December 2021 in the School auditorium. A team of 8 participants each from the four houses geared up to face the challenge.
The quiz consisted of 3 rounds. It commenced with a ‘direct round’ of questions followed by buzzer round’ and ‘fastest finger first’. Buzzer round and rapid fire round geared up the energy of budding mathematicians of samvid. Rules and regulations of the quiz were explained at the beginning of each round by anchors of the quiz Himanshi Yadav and Devika.
The first round tested the arithmetical skills of the participants and the second round tested logical reasoning. In the rapid fire ‘fastest finger round’ comprehension as well as speed of answer was tested. All the participants solved the questions enthusiastically and in skill. The questions posed to the teams tested every aspect of their knowledge. The audience students not only cheered loudly to motivate the participants of their respective houses but also got a chance to volunteer the correct answer each time the participants answered incorrectly.
When the quiz came to an end, everyone present in the Hall waited anxiously for the result. Principal Mrs #aasthabhardwaj shared her thoughts as the result was tabulated and motivated the students for participation. The Tejaswani house emerged as winners with score 155 and the Ojaswani house were the 1st runners up with score 150.
This was an enriching, interesting and fun filled activity. The students not only rose to the challenges posed with dexterity but equally, they enjoyed doing so.

परमशक्तिपीठ के सेवा प्रकल्प “श्री स्वामी परमानंद प्राकृतिक चिकित्सालय योग एवं अनुसंधान केंद्र” में हुआ पतंजलि वेलनेस केंद्र का शुभारंभ

By No Comments

योग, आयुर्वेद एवं नेचुरोपैथी का संगम

परमार्थ के कार्यों से निरंतर समाज की सेवा में अपनी निर्बाध उपस्थिति दर्ज कराता परमशक्तिपीठ के सेवा प्रकल्प “श्री स्वामी परमानंद प्राकृतिक चिकित्सालय योग एवं अनुसंधान केंद्र” में पतंजलि वैलनेस सेंटर का आज एक अगस्त को दिल्ली के विनोद नगर स्थित केंद्र पर विधिवत शुभारंभ किया गया।

इस विशेष अवसर पर परमपूज्य सदगुरुदेव महामंडलेश्वर युगपुरुष स्वामी परमानंद जी महाराज की विशेष अनुकंपनीय उपस्थिति रही। योगऋषि स्वामी रामदेव जी के साथ पूज्य दीदी माँ साध्वी ऋतंभरा जी के आशीर्वचनों ने भी श्रोतागणों को स्वास्थ के प्रति जागरूक किया। दीदी माँ साध्वी ऋतंभरा ने इस अवसर पर कहा कि पतंजलि एवं परमशक्तिपीठ का ये संगम सुखद है। दीदी माँ ने एक प्रसंग के माध्यम से रोग के सागर को साथ के माध्यम से सुखाने की अपील की। योगऋषि रामदेव जी ने कहा कि सेवा का महायज्ञ जिसके साथ धर्म, आध्यात्म, संस्कृति एवं प्रकृति के साथ मूल में बच्चों के चरित्र निर्माण का कार्य हो सके, उसके लिए सेवा के ये विविध आयाम हैं। यहाँ से प्रतिवर्ष एक लाख लोगों सेवा का प्रण उन्होंने लिया। बाबा रामदेव ने दीदी माँ एवं गुरुदेव से अपनी पहली मुलाकात का भी उल्लेख किया। बाबा रामदेव ने आदरणीय गुरुदेव के व्यक्तित्व की भूरि भूरि प्रशंसा भी की। कोरोना के कारण हुए नुकसान का भी योगऋषि ने उपाय योग, आयुर्वेद एवं प्राकृतिक चिकित्सा एवं सनातन जीवनपद्दति के रूप में बताया।

आदरणीय गुरुदेव ने भी समारोह को अपने आशीर्वचनों का आशीष देते हुए योग, आयुर्वेद के लाभ के विषय में बताया।

इस अवसर पर परमशक्तिपीठ के संजय भैया जी, साध्वी सत्यप्रिया जी, स्वामी सत्यशील जी, अशोक सरीन जी, शशि महाजन जी, तेजपाल जी, राजकुमार जी, त्रिलोकी जी, महावीर जी, विपिन जी, सतपाल गोयल जी, बलदेव गुप्ता जी, ज्ञान धनेजा जी, सुधीर अग्रवाल जी, के के सेठ जी, राजेश गुप्ता जी, संजय चौहान जी, ताराचंद जी, जनरल पृथ्वी जी, सी पी पाटोदिया जी, विजय मारू जी, राजेंद्र खेतान जी, प्रदीप जी, मोतीलाल सेठी जी, अशोक पाठक जी, संजय श्रीवास्तव जी आदि उपस्थित रहे।